भारतीय राजनीतिज्ञ मनमोहन सिंह की जीवनी- Manmohan Singh Biography In Hindi



भारतीय राजनीतिज्ञ मनमोहन सिंह की जीवनी- Manmohan Singh Biography In Hindi




मनमोहन सिंह
एक भारतीय अर्थशास्त्री और राजनीतिज्ञ हैं, जिन्होंने 2004 से 2014 तक भारत के प्रधान मंत्री के रूप में कार्य किया। कार्यालय में पहले सिख, सिंह पहले प्रधान मंत्री भी थे, जिन्होंने जवाहरलाल नेहरू को पांच साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद फिर से चुना गया था।

Manmohan Singh Biography In Hindi



जन्म: 26 सितंबर 1932 (उम्र 86 वर्ष), गा, पाकिस्तान
जीवनसाथी: गुरशरण कौर (मी। 1958)
कार्यालय: 2001 से राज्यसभा के सदस्य
शिक्षा: सेंट जॉन्स कॉलेज, कैम्ब्रिज (1956-1957),
पिछला कार्यालय: भारत के वित्त मंत्री (2012-2012),
बच्चे: उपिंदर सिंह, दमन सिंह, अमृत सिंह

मनमोहन सिंह की संक्षिप्त जीवनी/Brief of Manmohan Singh


मनमोहन सिंह का जन्म ब्रिटिश भारत (वर्तमान पाकिस्तान) के पंजाब प्रान्त में 26 सितम्बर,1932 को हुआ था। उनकी माता का नाम अमृत कौर और पिता का नाम गुरुमुख सिंह था। देश के विभाजन के बाद सिंह का परिवार भारत चला आया। यहाँ पंजाब विश्वविद्यालय से उन्होंने स्नातक तथा स्नातकोत्तर स्तर की पढ़ाई पूरी की। बाद में वे कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय गये। जहाँ से उन्होंने पीएच. डी. की। तत्पश्चात् उन्होंने आक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से डी. फिल. भी किया। उनकी पुस्तक इंडियाज़ एक्सपोर्ट ट्रेंड्स एंड प्रोस्पेक्ट्स फॉर सेल्फ सस्टेंड ग्रोथ भारत की अन्तर्मुखी व्यापार नीति की पहली और सटीक आलोचना मानी जाती है। डॉ॰ सिंह ने अर्थशास्त्र के अध्यापक के तौर पर काफी ख्याति अर्जित की। वे पंजाब विश्वविद्यालय और बाद में प्रतिष्ठित दिल्ली स्कूल ऑफ इकनामिक्स में प्राध्यापक रहे।

इसी बीच वे संयुक्त राष्ट्र व्यापार और विकास सम्मेलन सचिवालय में सलाहकार भी रहे और 1987 तथा 1990 में जेनेवा में साउथ कमीशन में सचिव भी रहे। 1971 में डॉ॰ सिंह भारत के वाणिज्य एवं उद्योग मन्त्रालय में आर्थिक सलाहकार के तौर पर नियुक्त किये गये। इसके तुरन्त बाद 1972 में उन्हें वित्त मंत्रालय में मुख्य आर्थिक सलाहकार बनाया गया। इसके बाद के वर्षों में वे योजना आयोग के उपाध्यक्ष, रिजर्व बैंक के गवर्नर, प्रधानमन्त्री के आर्थिक सलाहकार और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अध्यक्ष भी रहे हैं।

भारत के आर्थिक इतिहास में हाल के वर्षों में सबसे महत्वपूर्ण मोड़ तब आया जब डॉ॰ सिंह 1991 से 1996 तक भारत के वित्त मन्त्री रहे। उन्हें भारत के आर्थिक सुधारों का प्रणेता माना गया है। आम जनमानस में ये साल निश्चित रूप से डॉ॰ सिंह के व्यक्तित्व के इर्द-गिर्द घूमता रहा है। डॉ॰ सिंह के परिवार में उनकी पत्नी श्रीमती गुरशरण कौर और तीन बेटियाँ हैं।

Manmohan Singh Biography In Hindi




मनमोहन सिंह की राजनीतिक जीवन/Politcal life of Manmohan Singh


1985 में राजीव गांधी के शासन काल में मनमोहन सिंह को भारतीय योजना आयोग का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया। इस पद पर उन्होंने निरन्तर पाँच वर्षों तक कार्य किया, जबकि 1990 में यह प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार बनाए गए।

जब पी वी नरसिंहराव प्रधानमंत्री बने, तो उन्होंने मनमोहन सिंह को 1991 में अपने मंत्रिमंडल में सम्मिलित करते हुए वित्त मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार सौंप दिया। इस समय डॉ॰ मनमोहन सिंह न तो लोकसभा और न ही राज्यसभा के सदस्य थे। लेकिन संवैधानिक व्यवस्था के अनुसार सरकार के मंत्री को संसद का सदस्य होना आवश्यक होता है। इसलिए उन्हें 1991 में असम से राज्यसभा के लिए चुना गया।
मनमोहन सिंह ने आर्थिक उदारीकरण को उपचार के रूप में प्रस्तुत किया और भारतीय अर्थव्यवस्था को विश्व बाज़ार के साथ जोड़ दिया। डॉ॰ मनमोहन सिंह ने आयात और निर्यात को भी सरल बनाया।

लाइसेंस एवं परमिट गुज़रे ज़माने की चीज़ हो गई। निजी पूंजी को उत्साहित करके रुग्ण एवं घाटे में चलने वाले सार्वजनिक उपक्रमों हेतु अलग से नीतियाँ विकसित कीं। नई अर्थव्यवस्था जब घुटनों पर चल रही थी, तब पी. वी. नरसिम्हा राव को कटु आलोचना का शिकार होना पड़ा। विपक्ष उन्हें नए आर्थिक प्रयोग से सावधान कर रहा था। लेकिन श्री राव ने मनमोहन सिंह पर पूरा यक़ीन रखा। मात्र दो वर्ष बाद ही आलोचकों के मुँह बंद हो गए और उनकी आँखें फैल गईं। उदारीकरण के बेहतरीन परिणाम भारतीय अर्थव्यवस्था में नज़र आने लगे थे और इस प्रकार एक ग़ैर राजनीतिज्ञ व्यक्ति जो अर्थशास्त्र का प्रोफ़ेसर था, का भारतीय राजनीति में प्रवेश हुआ ताकि देश की बिगड़ी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाया जा सके।

Manmohan Singh Biography In Hindi


जीवन के महत्वपूर्ण पड़ाव:


  • 1957 से 1965 - चंडीगढ़ स्थित पंजाब विश्वविद्यालय में अध्यापक
  • 1969 -1971 - दिल्ली स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स में अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार के प्रोफ़ेसर
  • 1976 - दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में मानद प्रोफ़ेसर
  • 1982-1985 - भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर
  • 1985-1987 - योजना आयोग के उपाध्यक्ष
  • 1990-1991 - भारतीय प्रधानमन्त्री के आर्थिक सलाहकार
  • 1991 - नरसिंहराव के नेतृत्व वाली काँग्रेस सरकार में वित्त मन्त्री
  • 1991 - असम से राज्यसभा के सदस्य
  • 1995 - दूसरी बार राज्यसभा सदस्य
  • 1996 - दिल्ली स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स में मानद प्रोफ़ेसर
  • 1999 - दक्षिण दिल्ली से लोकसभा का चुनाव लड़ा लेकिन हार गये।
  • 2001 - तीसरी बार राज्य सभा सदस्य और सदन में विपक्ष के नेता
  • 2004 - भारत के प्रधानमन्त्री

इसके अतिरिक्त उन्होंने अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष और एशियाई विकास बैंक के लिये भी काफी महत्वपूर्ण काम किया है।

पुरस्कार एवं सम्मान/Manmohan Singh Awards 

सन 1987 में उपरोक्त पद्म विभूषण के अतिरिक्त भारत के सार्वजनिक जीवन में डॉ॰ सिंह को अनेकों पुरस्कार व सम्मान मिल चुके हैं जिनमें प्रमुख हैं: -


  1. 2002 - सर्वश्रेष्ठ सांसद
  2. 1995 में इण्डियन साइंस कांग्रेस का जवाहरलाल नेहरू पुरस्कार,
  3. 1993 और 1994 का एशिया मनी अवार्ड फॉर फाइनेन्स मिनिस्टर ऑफ द ईयर,
  4. 1994 का यूरो मनी अवार्ड फॉर द फाइनेन्स मिनिस्टर आफ़ द ईयर,
  5. 1956 में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय का एडम स्मिथ पुरस्कार
  6. डॉ॰ सिंह ने कई राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय संगठनों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। अपने राजनैतिक जीवन में वे 1991 से राज्य सभा के सांसद तो रहे ही, 1998 तथा 2004 की संसद में विपक्ष के नेता भी रह चुके हैं।

READ MORE :- 


अमित शाह की जीवनी -Amit Shah Biography In Hindi
जानिए योगी आदित्यनाथ जीवन परिचय - Yogi Adityanath Biography
Nation Father - Mahatma Gandhi Biography Hindi
राजीव गाँधी की जीवनी - Rajeev Gandhi Biography

मुझे उम्मीद है आपको यह लेख- भारतीय राजनीतिज्ञ मनमोहन सिंह की जीवनी/ManMohan Singh Biography In Hindi पसंद आएगा |

Post a Comment

2 Comments

amir shahzad said…
I could not resist commenting. Perfectly written!
we provide here..atractive shayari , sms , quotes all quality we post here,Shayari in Hindi best facebook quotes in short line we post here.we also provide everygreen shayari ..
Love Shayari in Hindi
Attitude Shayari in Hindi
Shayari in English
amir shahzad said…
bookmarked!!, I like your site!
we provide here..atractive shayari , sms , quotes all quality we post here,Shayari in Hindi best facebook quotes in short line we post here.we also provide everygreen shayari ..
Love Shayari in Hindi
Attitude Shayari in Hindi
Shayari in English