लैरी पेज की जीवनी - Larry page biography in Hindi

लैरी पेज की जीवनी
Larry page biography in Hindi




लैरी पेज ( Larry Page )

लॉरेंस एडवर्ड पेज एक अमेरिकी कंप्यूटर वैज्ञानिक और इंटरनेट उद्यमी हैं, जिन्होंने सर्गेई ब्रिन के साथ Google की सह-स्थापना की थी। पेज, अल्फाबेट इंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। अगस्त 2001 में एरिक श्मिट के पक्ष में Google के सीईओ के रूप में अलग हटने के बाद, उन्होंने अप्रैल 2011 में भूमिका दोबारा ग्रहण की। 

जन्म: 26 मार्च 1973 (उम्र 45 वर्ष), पूर्वी लांसिंग, मिशिगन, संयुक्त राज्य
निवल मूल्य: 4,930 करोड़ अमरीकी डालर (2019)
वेतन: $1 Dollar
जीवनसाथी: Lucinda Southworth (m। 2007)
बच्चे: 2 
निवास: पालो अल्टो, कैलिफोर्निया, यू.एस.

शिक्षा: East Lansing High School (1987-1991)


  • लैरी पेज का जीवन परिचय 



Larry page biography in Hindi
लैरी पेज की जीवनी  Larry page biography in Hindi

दुनिया की सबसे बड़े सर्च इंजिन Google ने 2005 में आधिकारिक तौर पर अपना जन्मदिन 27 सितंबर को मनाने की घोषणा की थी। इसके पहले गूगल ने अपने बर्थडे की तारीख कई बार बदली है।4 सितंबर, 1998 को बनी इस कंपनी ने सितंबर महीने के कई दिनों को अपने बर्थडे के तौर पर चुना था।4, फिर 7, और 15, व 26 सितंबर के बाद आखिरकार 2005 में गूगल ने 27 सितंबर को अपना जन्मदिन तय कर लिया।

2005 के बाद से हर 27 सितंबर को गूगल अपने होम पेज पर आकर्षक डूडल बनाता आया है।‘ब्रांड गूगल’ की चमत्कारिक सफलता की कहानी कैलिफोर्निया की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के दो छात्रों के बीच दोस्ती के साथ शुरू हुई।शुरुआत में इन दोस्तों ने गूगल कंपनी एक कार गैराज से शुरू की थी, जो आज बहुत ही अधिक लोकप्रिय बन चुकी है।

इंटरनेट सर्च मशीन से शुरू कर गूगल अब ई-मेल, फोटो और वीडियो, भूसर्वेक्षण नक्शों और मोबाइल फोन जैसी सेवाएं देने वाली ऑलराउंडर कंपनी बन गई है।सभी सेवाएं मुफ्त हैं। कमाई होती है व्यावसायिक कंपनियों से मिलने वाले विज्ञापनों से। गूगल की शुरुआत गैराज में बनाए गए ऑफिस से हुई थी। आज गूगल के हेडक्वार्टर 'गूगलप्लेक्स' समेत गूगल के 40 देशों में 70 से ज्यादा ऑफिस हैं।

• दो मालिक हे आपस में नहीं पटती थी दोनों की


सर्जि ब्रिन और लैरी पेज 22-23 साल के थे, जब 1995 में वे पहली बार मिले। उस समय दोनों के बीच बिल्कुल नहीं पटती थी। हर बात पर बहस हो जाया करती थी। दोनों के माता-पिता बेहद पढ़े-लिखे टैक्नोक्रेट्स थे।


Larry page biography in Hindi
larry page google



    • मिलकर बनाई सर्च मशीन

    लैरी और सर्जि को दोस्त बनाया एक समस्या ने। वह थी इंटरनेट जैसे सूचनाओं के महासागर में से किसी खा़स सूचना को कैसे ढूंढ़ा जाए?
    दोनों ने मिल कर एक सर्च-मशीन बनाई, एक ऐसा कम्प्यूटर, जो कुछ निश्चित सिद्धांतों और नियमों के अनुसार किसी सूचना भंडार में से ठीक वही जानकारी ढूंढकर निकाले, जो हम चाहते हैं।स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में ही किए परीक्षण- बुनियादी सिद्धांत ये था कि हाइपर लिंकिंग की मदद से किसी वेबसाइट को सर्च किए टर्म के हिसाब से इंटरनेट से खोजकर एक समझने योग्य सूची बनानी है।


    यूजर जिस भी शब्द, प्रश्न या आर्टिकल को सर्च करे, कम्प्यूटर उसके बारे में जितनी हो सके, संबंधित जानकारी यूजर्स के सामने पेश कर दे।ये एक ऐसी गुत्थी थी जिसे लैरी पेज और सर्जि ब्रिन ने मिलकर सुलझाया। दोनों ही प्रोफेशनल दोस्तों ने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में ही आरंभिक परीक्षण किए।


    इसके लिए 11 लाख डॉलर धन जुटाया। लैरी पेज ने सबसे पहले वर्ल्ड वाइड वेब की मैथेमैटिकल प्रॉपर्टीज को समझने की कोशिश की।लैरी पेज ने इंटरनेट का हाइपरलिंक स्ट्रक्चर एक ग्राफ की मदद से समझा। इसके बाद लैरी पेज ने सर्जि ब्रिन के साथ एक रिसर्च प्रोजेक्ट 'BackRub' के साथ जुड़कर काम करना शुरू किया।दोनों दोस्तों ने एक साथ कई प्रोजेक्ट किए और अंत में 4 सितंबर, 1998 में इन दोनों ने मिलकर कंपनी की नींव रखी।



    • कार-गैरेज में बनी गूगल इनकॉपरेटेड

    Larry page biography in Hindi
    Larry page biography in Hindi


    दोनों ने 7 सितंबर 1998 को, गूगल इनकॉपरेटेड के नाम से मेनलो पार्क, कैलिफोर्निया के एक कार गैरेज में अपनी कंपनी बनाई और काम शुरू कर दिया।दो ही वर्षों में गूगल का नाम सबकी जुबान पर था। जर्मनी में कम्प्यूटर विज्ञान के प्रोफेसर डिर्क लेवान्दोस्की का मत है कि याहू जैसे अपने अन्य प्रतियोगियों की तुलना में गूगल शायद ही बेहतर है, लेकिन उसकी सार्वजनिक छवि कहीं अच्छी बन गई है।

    • सितंबर 2007 में गूगल ने पूरा किया अपना पहला दशक

    इंटरनेट को दुनिया में आए दो दशक से ज्यादा समय हो गए हैं, जबकि गूगल ने सितंबर 2007 को अपना पहला दशक पूरा किया, तब भी दोनों एक-दूसरे के पर्याय बन गए हैं।

    • इस्तेमाल बढ़ने के साथ-साथ बढ़ते चले गए शेयर के दाम

    Larry page biography in Hindi
    Larry page biography in Hindi

    इंटरनेट का इस्तेमाल जितना बढ़ रहा है, Google के Share भी उतने ही चढ़ रहे हैं। अगस्त 2004 में गूगल ने जब पहली बार शेयर बाज़ार में पैर रखा, तब उसके शेयर 85 डॉलर में बिक रहे थे। तीन वर्ष बाद, नवंबर 2007 में इसके शेयर उछलकर 747 डॉलर पर पहुंच गए थे।


    I Hope You Like The लैरी पेज की जीवनी  

    Larry page biography in Hindi
    Stay Connected With StoryBookHindi.com
    Daily Updates


    Post a Comment

    0 Comments